Latest News

जहाँ खामोश फिजा थी

💖💞💖💞💖💞💖💞💖💞💖💞💖💞💖💞
🍃🍃जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था;
हमसा कोई किस जुर्म में आया भी न था!
न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी;
हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था!🌹

Hindi Shayari with Images

Hindi Shayari with Images

No comments:

Post a Comment

KGR Alienture Designed by Templateism.com Copyright © 2014

Theme images by Bim. Powered by Blogger.
Published By Gooyaabi Templates